Philosophy Meaning in Hindi | Philosophy का मतलब क्या होता है

Philosophy Meaning in Hindi – Philosophy का मतलब “दर्शन, दर्शनशास्त्र, तत्वज्ञान, तत्वविज्ञान, विद्या का प्रेम, सिद्धांत” होता है। दर्शन शास्त्र को विदेशों में ‘फिलॉसफी‘ (Philosophy) कहते हैं। फिलॉसफी Logic, Ethics, Aesthetics, तत्व और ज्ञान मीमांसा का मिला-जुला रूप है। वस्तुतः दर्शनशास्त्र स्वत्व, तथा समाज और मानव चिंतन तथा संज्ञान की प्रक्रिया के सामान्य नियमों का Science है। वास्तव में, दर्शन को परिभाषित करना स्वयं में ही एक दार्शनिक प्रश्न है। आइए Philosophy Meaning को विस्तार से समझते हैं –

Philosophy Meaning in Hindi –
दर्शन,
दर्शनशास्त्र,
तत्वज्ञान,
तत्वविज्ञान,
विद्या का प्रेम,
सिद्धांत,
धारणा,
फ़लसफ़ा,
शास्त्र,
तर्क शास्त्र विद्या,
ज्ञान विद्या,
फिलॉसफी,

Bless का मतलब क्या होता है ?
RIP का मतलब क्या होता है ?

Hindi Meaning of Philosophy | फिलॉसफी का अर्थ क्या होता है ?

Philosophy का अर्थ “दर्शन, दर्शनशास्त्र, तत्वज्ञान, तत्वविज्ञान, विद्या का प्रेम, सिद्धांत” आदि होता है। फिलॉसफी शब्द दो शब्दों (Philos तथा Sophia) से मिलकर बना है। ‘फिलॉस’ का अर्थ होता है प्रेम और ‘सोफिया’ का अर्थ है ज्ञान अर्थात Philosophy का अर्थ ‘ज्ञान के प्रति प्रेम’ या ‘विद्या के प्रति अनुराग होता है।

भारत में Philosophy को दर्शन या दर्शनशास्त्र कहा जाता है। भारत में ‘दर्शन’ उस विद्या को कहा जाता है जिसके द्वारा तत्व का ज्ञान हो सके। ‘तत्व दर्शन’ का अर्थ है तत्व का ज्ञान। मानव के दुखों की निवृति के लिए और/या तत्व ज्ञान कराने के लिए ही भारत में दर्शन का जन्म हुआ है। हृदय की गाँठ तभी खुलती है और शोक तथा Doubt तभी दूर होते हैं जब एक सत्य का दर्शन होता है।

दर्शन शब्द का अर्थ (Philosophy Means in Hindi)

दर्शन शब्द का अर्थ दृष्टि या देखना, ‘जिसके द्वारा देखा जाय’ या ‘जिसमें देखा जाय’ होगा। दर्शन शब्द का शब्दार्थ केवल देखना या Normally देखना ही नहीं है। इसीलिए पाणिनि ने धात्वर्थ में ‘प्रेक्षण’ Word का Use किया है।

प्रकृष्ट ईक्षण के साधन और फल दोनों का नाम दर्शन है। जहाँ पर इन सिद्धान्तों का Collection हो, उन ग्रन्थों का भी नाम दर्शन ही होगा, जैसे- Justice Philosophy (न्याय दर्शन), वैशेषिक दर्शन , philosophical philosophy (मीमांसा दर्शन) आदि।

Philosophy (दर्शनशास्त्र) ही हमें Evidence and Logic के सहारे अन्धकार में दीपज्योति प्रदान करके हमें Guide करने में समर्थ होता है। गीता के अनुसार किं कर्म किमकर्मेति कवयोऽप्यत्र मोहिताः (संसार में करणीय क्या है और अकरणीय क्या है, इस विषय में विद्वान भी अच्छी तरह नहीं जान पाते।) परम लक्ष्य एवं पुरुषार्थ की प्राप्ति Philosophical Knowledge से ही Possible है, अन्यथा नहीं।

Source of Indian Philosophy in Hindi (भारतीय दर्शन का स्रोत)

Indian philosophy का आरम्भ वेदों से होता है। “वेद” भारतीय धर्म, दर्शन, संस्कृति, साहित्य आदि सभी के मूल स्रोत हैं। आज भी धार्मिक और सांस्कृतिक कृत्यों के अवसर पर वेद-मंत्रों का गायन होता है।

वैदिक काल के ऋषियों ने हिन्दुओं के सबसे प्राचीन दर्शन की नींव रखी। आरुणि और याज्ञवल्क्य (८वीं शताब्दी ईसापूर्व) आदि प्राचीनतम हिन्दू दार्शनिक हैं।

भारतीय दार्शनिकों के बारे में टी एस एलियट ने कहा था-[

Indian philosophers subtleties make most of the great European philosophers look like school boys.
(अर्थ: भारतीय दार्शनिकों की सूक्ष्मताओं को देखते हुए यूरोप के अधिकांश महान दार्शनिक स्कूल के बच्चों जैसे लगते हैं।)

भारतीय दर्शन और पाश्चात्य दर्शन के बीच अंतर (Difference Indian and Western Philosophy)

भारतीय एवं पाश्चात्य दर्शन में प्रमुख अन्तर निम्नलिखित हैं

Indian PhilosophyWestern Philosophy
भारतीय दर्शन की उत्पत्ति ‘दृश्’ धातु से हुई है जिसका अर्थ है ‘देखना’ है।Western Philosophy में फिलॉसफी ग्रीक भाषा का शब्द है। जिसका शाब्दिक अर्थ ‘ज्ञान के प्रति अनुराग’ है।
Indian Philosophy भारतीय दर्शन में हमें आत्मा का दर्शन प्राप्त हुआ साथ ही स्कोर तत्त्व मीमांसा को तर्क के आधार पर देखा जाता है।जबकि Western Philosophy में सामान्यतः मानववाद पाया जाता है, यह भी तर्क पर ही आधारित है।
Indian Philosophy का मुख्य उद्देश्य व्यक्ति की स्वतन्त्रता पर ध्यान देना व उसके कष्टों की मुक्ति हेतु निर्वाण प्रदान करना है।, भारतीय दार्शनिक सम्प्रदाय स्वतन्त्रता पर विशेष बल देते हैंWestern Philosophy पाश्चात्य दर्शन में मूल्यमीमांसा या तत्त्वमीमांसा के पहलुओं के प्रति बौद्धिक उत्सुकता दिखायी देती है, साथ ही पाश्चात्य दार्शनिक ने स्वतन्त्रता प्राप्त करने का दावा नहीं किया है।

यहां तक आपने Philosophy Meaning को अच्छी तरह से समझा होगा अब आगे हम इस शब्द को और अच्छे से समझने के लिए कुछ Sentences और Synonyms & Antonyms व Question Answer भी समझेंगे चलिए आगे बढ़ते हैं –

Philosophy Meaning in Hindi with Example

भारत में ‘दर्शन’ उस विद्या को कहा जाता है जिसके द्वारा तत्व का ज्ञान हो सके।
In India ‘Philosophy’ is called that knowledge through which the knowledge of the element can be attained.

भारतीय दर्शन का आरम्भ वेदों से होता है।
Indian philosophy begins with the Vedas.

आधुनिक अर्थ में वेदों को हम दर्शन के ग्रंथ नहीं कह सकते।
In the modern sense, we cannot call the Vedas books of philosophy.

सांख्य दर्शन के रचयिता महर्षि कपिल हैं। इसमें सत्कार्यवाद के आधार पर इस सृष्टि का उपादान कारण प्रकृति को माना गया है।
Maharishi Kapil is the author of Sankhya philosophy. In this, on the basis of Satkaryavad, nature has been considered as the material cause of this creation.

भारतीय दर्शन में हमें आत्मा का दर्शन प्राप्त हुआ है।
In Indian philosophy we have got the vision of soul.

उपनिषदों का दर्शन आध्यात्मिक है, ब्रह्म की साधना ही उपनिषदों का मुख्य लक्ष्य है। ब्रह्म को आत्मा भी कहते हैं।
The philosophy of the Upanishads is spiritual, the worship of Brahma is the main goal of the Upanishads. Brahma is also called soul.

जीवन दर्शन के लिए हमें पुराने शास्त्रों को पढ़ना जरूरी है।
It is necessary for us to read the old scriptures for philosophy of life.

न्यायिक दर्शन समझना बहुत जरूरी है क्योंकि इससे आप सही गलत का फैसला कर पाएंगे।
It is very important to understand judicial philosophy as it will help you to decide right from wrong.

तत्वज्ञान को हर कोई सही नहीं मानता है लेकिन यह आपके जीवन पर एक सकारात्मक असर डालता है।
Philosophy is not accepted by everyone but it has a positive impact on your life.

Synonym of Philosophy

Beliefs,
Principles,
Ideology,
Convictions,
Theories,
Ethics,
Logic,
Dogma,

FAQ for Philosophy Meaning in Hindi

फिलॉसफी में क्या पढ़ाया जाता है?

फिलॉसफी में Quantum Physics Philosophy, एनालिटिकल फिलॉसफी, philosophy of art, बायोमेडिकल एथिक्स, बिजनेस एथिक्स, Environmental ethics. आदि पढ़ाया जाता है।

दर्शन की कितनी शाखाएं हैं?

दर्शन की तीन शाखाएं हैं,
1, तत्वमीमांसा (Metaphysics)
2, ज्ञानमीमांसा (Epistemology)
3, मूलमीमांसा (Axiologi)

फिलॉसफी के जनक कौन है?

सुकरात को Western Philosophy का जनक मन जाता है।

Philosopher meaning in hindi

Philosopher का मतलब “दार्शनिक” होता है।

Political Philosophers meaning in hindi

Political Philosophers का मतलब ” राजनीतिक दार्शनिक” होता है।

Conclusion

I Hope आपको “Philosophy” का मतलब अच्छे से समझ में आ गया होगा, लेकिन फिर भी आपका कोई सवाल है तो हमें Comment में जरूर बताएं, हमने हमारी Website पर और ऐसे ही कई सारे शब्दों के बारे में बताया है अगर आप भी अपनी इंग्लिश मजबूत करना चाहते हैं तो इन शब्दों को जरूर जानिए जानने के लिए आप यहां पर Click कर सकते हैं “Meanings

अगर आपको यह Article पसंद आया पसंद आया हैं तो इसे अपने Social Media अकाउंट पर जरूर शेयर करें ताकि लोगों की Help हो सके, इस आर्टिकल को Last तक पढ़ने के लिए Thank you So much

Tags

Hindi meaning of Philosophy, Philosophy means in hindi, Philosophy ka matalab hindi me, Philosophy का मतलब (मीनिंग) हिंदी में, Philosophy kise kahte hai,

Leave a Comment